Connect with us

उत्तराखण्ड

देहरादून के वैज्ञानिक डॉ सरदार सिंह ने शिष्टाचार भेंट कर केंद्र के क्रियाकलापों और गतिविधियों की जानकारी दी। ,,

आज राजभवन में क्षेत्रीय रेशम उत्पादन अनुसंधान केंद्र, देहरादून के वैज्ञानिक डॉ सरदार सिंह ने शिष्टाचार भेंट कर केंद्र के क्रियाकलापों और गतिविधियों की जानकारी दी।

रेशम उत्पादन खासा लाभकारी कार्य है विशेषकर पहाड़ी क्षेत्रों में रेशम उत्पादन आय का स्रोत बन सकता है। रेशम उत्पादन पलायन रोकने में कारगर साबित हो सकता है इस पर विशेष प्रयास किए जाने की जरूरत है।

रेशम खेती में पेड़ आधारित है। एक बार पेड़ लगाने पर 30-35 वर्षों तक उससे फसल ली जा सकती है। रेशम की खेती करने के लिए अधिक से अधिक किसानों को प्रेरित करने पर जोर दिया जाए।

sericulture #silk President of India Vice President of India PMO India Ministry of Home Affairs, Government of India Ministry of Defence, Government of India Press Information Bureau – PIB, Government of India

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page