Connect with us

उत्तराखण्ड

जिलाधिकारी वंदना सिंह के निर्देश के क्रम में भारी बरसात के चलते आपदा संभावित क्षेत्रों में विभिन्न तहसीलों में अधिकारियों द्वारा निरीक्षण किए गए।,

नैनीताल,

जिलाधिकारी वंदना सिंह के निर्देश के क्रम में भारी बरसात के चलते आपदा संभावित क्षेत्रों में विभिन्न तहसीलों में अधिकारियों द्वारा निरीक्षण किए गए। जहां सड़कों में आई भूस्खलन के मलबे को हटाया गया तो वही अन्य क्षेत्रों में भी मार्गों को सुचारू किए जाने की कार्यवाही गतिमान है।

जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में जिले में विभिन्न अधिकारियों ने अपने-अपने तहसील क्षेत्रों में आपदा संभावित क्षेत्रों का निरीक्षण किया। सांय 5:00 बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार बेतालघाट एवं कोशियाकुटोली में हल्की बरसात तथा मैदानी क्षेत्रों में बादल छाए रहे । इसके अलावा तहसीलों के अंतर्गत क्षति की कोई रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है। भवाली क्वारब मार्ग लगातार बोल्डर एवं पत्थर गिरने से बाधित चल रहा था जिसे कि 4:40 पर सुचारू कर दिया गया। इसके साथ ही रूसी बायपास मार्ग में जे सी बी से मलबा हटाकर खोल दिया गया है। इसके अतिरिक्त 14 मार्ग में 11 ग्रामीण मार्ग, 2 राज्य मार्ग और एक आंतरिक मार्ग मलबा आने से बाधित हैं जिनको यातायात के लिए सुचारू किया जा रहा है।

इसके अलावा रामनगर के भरतपूरी -पंपापूरी (कोसी नदी) ढेला नदी, पनोद नाला एवं रामनगर चकलुवा में निहाल नाले का राजस्व निरीक्षक द्वारा निरीक्षण किया गया जिसमें सभी सामान्य पाई गई। उप जिलाधिकारी रामनगर द्वारा धनगढ़ी नाले का भी निरीक्षण कर मौके पर मौजूद जेसीबी का सत्यापन किया गया तथा ढैला नाले का भी निरीक्षण किया गया। इसके अलावा राष्ट्रीय राजमार्ग खंड हल्द्वानी के अंतर्गत कैंची से खैरना तक राहत एवं बचाव कार्यों हेतु जेसीबी का सत्यापन कराया गया।

इसके अलावा हल्द्वानी में नगर मजिस्ट्रेट ने मल्ला गोरखपुर और नवाबी रोड में जलभराव की स्थिति का निरीक्षण किया जिसमें हालात सामान्य पाए गए। तथा जिलाधिकारी के निर्देश पर नैनीताल कालाढूंगी मार्ग पर लोक निर्माण विभाग द्वारा नालों और कलमठों का सफाई अभियान चलाया गया। इसके अलावा बेतालघाट क्षेत्र में भी लोक निर्माण विभाग द्वारा नालों की वृहद सफाई अभियान चलाया गया। तहसीलदार नैनीताल द्वारा भूस्खलन प्रभावित क्षेत्र आलू खेत का निरीक्षण करते हुए 5 परिवारों को हिमालयन रिट्रीट एवं नीलकंठ होटल में शिफ्ट किए जाने की कार्रवाई शुरू की गई। इसके अलावा हालात सामान्य पाए गए। इसके अलावा पोखराड़ गधेरा कस्यालेख धरी मार्ग (धनचूली) मार्ग वैकल्पिक रूप से खोला गया है । और खन्स्यु का खुटका गधेरा सामान्य स्थिति में पाया गया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page