Connect with us

उत्तराखण्ड

सरकारी अस्पतालो के रास्तों का खस्ता हालत व्यय करती तस्वीर,

RS gill Journalist

सितारगंज,,सरकार अपनी योजना में सरकारी अस्पतालो की तमाम तरह की घोषणा करती है लेकिन हकीत ये अस्पताल की तस्वीर ब्वाय करती हैं इससे ये मालूम पड़ता है कि संबंधित प्रशासन एवम अधिकारी एवम नेता कितने जागरूक है जो इन अति महत्वपूर्ण सेवाओं की अनदेखी कर रहे हैं ऊधमसिंहनगर के सरकारी महिला अस्पताल सितारगंज में पीने के पानी सुविधा नहीं है।।न सरकारी स्टाफ के लिए न मरीजों के लिए पीने के पानी की सुविधा उपलब्ध नहीं है ले देकर एक हैंडपम लगा वो कई सालों से खराब है न टंकी न हैडपम्प है। अस्पताल जाने वाला रास्ता भी बरसात में पानी भर जाता है।जिससे मराजों व स्टाफ आवागमन के लिए न कोई पक्का रास्ता है व न सड़क है। सब व्यवस्था महिला अस्पताल की चौपट है। महिला सरकारी अस्पताल में अभी भी दलदल है।मरीज लोग कैसे आयेगे व स्टाफ को ड्यूटी करने व जाने के लिए दलदल से गुजरना पड रहा है।
जबकि सितारगंज के महिला अस्पताल में एलोपैथी के फार्मासिस्ट बैठते है।व आयुष विंग का एक कमरा वहां पर एक डाक्टर अपनी पर नियुक्त है जो ड्यूटी करते हैं। व होम्योपैथिक के डाक्टर व स्टाफ है जो वहां पर अपनी ड्यूटी करते हैं। जो महिला अस्पताल समस्याओं से जूझ रहा है ।इस सरकार में इतनी अव्यवस्था से परेशानी होती है ।।कोई विभागीय अधिकारी भारी अव्यवस्था को सुचारू करने मे नाकाम सिद्ध हो रहे हैं न उत्तराखंड सरकार स्वास्थ्य विभाग की परवाह करता है।।सब विकास के नाम पर कलंक है जबकि स्थानीय विधायक ने तमाम तरह के वायदे किए गए थे कोई भी कार्य धरातल पर नजर नही आ रहा हैं,,ये ही देश का विकास है जो विकास के नाम पर वोट लिए गए थे वो सब हवाहवाई नजर आ रहे हैं, ये ही विकास ,,

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page