Connect with us

उत्तराखण्ड

बागेश्वर के 99 स्वयंसेवियों को 12 दिवसीय प्रशिक्षण पिथौरागढ़ एवं उत्तरकाशी में दिया गया,,

बागेश्वर

 राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण भारत सरकार की आपदा मित्र अद्यतनीकरण परियोजना के अन्तर्गत जनपद बागेश्वर के 99 स्वयंसेवियों को 12 दिवसीय प्रशिक्षण पिथौरागढ़ एवं उत्तरकाशी में दिया गया था, जिसमें पिथौरागढ़ में 50 एवं उत्तरकाशी में 49 पीआरडी स्वयंसेवक, एनसीसी, एनएसएस, नेहरू युवक दल, स्थानीय गार्इड एवं आम इच्छुक जनमानस तथा युवक मंगल दल के स्वयंसेवियों द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया गया। 

विकास खण्ड गरूड़ एवं बागेश्वर के प्रशिक्षित 24 पीआरडी स्वयंसेवियों को कलैक्ट्रेट सभागार में  जिलाधिकारी अनुराधा पाल, अपर जिलाधिकारी चन्द्र सिंह इमलाल, उप जिलाधिकारी हरगिरी एवं युवा कल्याण अधिकारी कीर्ति वर्मा ने संयुक्त रूप में आपदा राहत किटों का वितरण किया। 

कार्यक्रम में जिलाधिकारी श्रीमती पाल ने प्रशिक्षित स्वयंसेवियों को कहा कि आपदा से निपटने के लिए हर समय तैयार रहना होगा। साथ ही आपदा के समय अपने आप को सुरक्षित रखते हुए राहत पहुॅचाना सुनिश्चित करें।

कार्यक्रम में आपदा प्रबंधन अधिकारी ने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि 12 दिवसीय खोज-बचाव एवं प्राथमिक चिकित्सा सम्बन्धी (आपदा मित्र) प्रशिक्षण प्राप्त किया गया है। आपदा राहत किट का जनपद में किसी भी प्रकार की आपदा स्थिति में स्वयंसेवक के रूप में इमरजेंसी रिस्पांस किट के साथ उपयोग किया जायेगा तथा यदि समन्धित स्वंयसेवक नौकरी या अन्य किसी कार्य हेतु जनपद से बाहर जाता है तो किट को ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी या जनपद आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण बागेश्वर में सुरक्षित जमा करने का सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित प्रशिक्षक का होगा। आपदा किट का उपयोग आपदा, अकालीन स्थिति में ही प्रयोग में लाया जायेगा। किट को सम्बन्धित ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी को सौंपे जाने पर उक्त सूचना लिखित रूप से कार्यालय जनपद आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण, बागेश्वर को अनिवार्य रूप से दी जायेगी तथा किट प्राप्ति से पूर्व में प्रमाण पत्र देना अनिवार्य होगा। 

आपदा राहत किट में लाईफ जैकेट, टॉर्च, सेफ्टी ग्लब्ज, पौकेट नार्इफ, फर्स्ट एड किट, गैस लार्इटर, विसील, वॉटर बोटल, रैकसैन बैग, मॉसकिटो किट, यूनिफॉम ड्रेस विथ लोगो, रैनकोट, गमबूट, सेफ्टी ग्लास, सेफ्टी हैलमैट  उपलब्ध करायी गयी है।  

इस अवसर पर जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी शिखा सुयाल, क्षेत्रीय युवा कल्याण अधिकारी अर्जुन सिंह रावत, तहसीलदार दीपिका आर्या सहित एसडीआरएफ की टीम व प्रशिक्षित पीआरडी स्वयं सेवक उपस्थित थे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page