Connect with us

Uncategorized

मुख्यमंत्री घोषणाओं की जनपदवार समीक्षा कर अधिकारियों को पूर्ण जिम्मेदारी के साथ विकास कार्यों को ससमय पूर्ण करने के निर्देश दिए।,,

चंपावत
माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अल्मोड़ा लोक सभा क्षेत्र के सभी जनपदों में संचालित विकास कार्यों एवं मुख्यमंत्री घोषणाओं की जनपदवार समीक्षा कर अधिकारियों को पूर्ण जिम्मेदारी के साथ विकास कार्यों को ससमय पूर्ण करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि इस प्रकार लगातार विकास कार्यों की जो समीक्षा की जा रही है उससे अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ संचार बना रहेगा जिससे जनपदों में विकास कार्य तेज गति के साथ आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि जनपद में होने वाले विकास कार्यों को धरातल स्तर पर पहुंचाने के लिए पूर्ण जिम्मेदारी जिलाधिकारियों की है, इस हेतु वह लगातार स्वयं संचालित विकास कार्यों की समीक्षा करें,विकास कार्यों को पूर्ण करने में जहाँ पर भी समस्याएं आ रही हैं अधिकारी माननीय क्षेत्रीय विधायक के साथ मिलकर आपसी समन्वय के साथ समस्याओं का समाधान कर जिले को विकास के क्षेत्र में आगे ले जाएं। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की समीक्षा बैठकों से विकास कार्यों को अवश्य गति मिलेगी और आम जनता को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि जनपद स्तर पर हल होने वाली समस्याओं को जनपद स्तर पर ही दूर की जाए, अनावश्यक शासन स्तर पर ना आने दें। उन्होंने जिलाधिकारियों को जनपद में लंबित प्रकरणों का निस्तारण प्राथमिकता के साथ करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश का चहमुखी विकास करना है तो स्थानीय भौगोलिक परिस्थितियों के अनुसार विकास कार्य करने होंगे, क्योंकि हमारे प्रदेश में पहाड़ी तथा मैदानी दोनों प्रकार की भौगोलिक परिस्थितियां है। इस दौरान माननीय मुख्यमंत्री ने जनपदवार विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि समस्याओं से भागना नहीं है बल्कि उनका समाधान निकालना है।
वीसी के माध्यम से जिलाधिकारी चंपावत नरेन्द्र सिंह भंडारी ने जनपद में गतिमान विभिन्न विकास कार्यों की जानकारी देते हुए अवगत कराया कि मुख्यमंत्री घोषणा अंतर्गत वर्तमान तक 94 घोषणाओं में से 39 घोषणाएं पूर्ण हो गई हैं 33 घोषणाएं शासन स्तर पर लंबित हैं। 15 घोषणाएं विभिन्न विभागीय स्तर पर तथा 10 घोषणाएं जो जनपद स्तर पर लंबित है उन्हें शासन स्तर पर भेजे जाने की कार्यवाही गतिमान है। इस दौरान उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री के समक्ष जनपद चंपावत की विभिन्न समस्याएं रखी जिसमें जनपद में दो उप जिलाधिकारियों के पद रिक्त होने, संभागीय परिवहन कार्यालय में कर निरीक्षक के पद रिक्त होना, लोक निर्माण विभाग, सिंचाई विभाग में अधिशासी अभियंता के रिक्त पद भरे जाने के अनुरोध के साथ ही जनपद से भेजे गए आपदा के प्रस्तावों को स्वीकृत करने, जनपद में वन प्रभाग के तीन प्रभागों के स्थान पर एक ही चंपावत वन प्रभाग बनाए जाने जिससे वन प्रभाग संबंधी प्रकरणों का समय से निस्तारण हो सकें जैसी आदि समस्याएं रखी। इस दौरान जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि चंपावत नगर को लेक सिटी के रूप में विकसित किए जाने हेतु 69 करोड़ का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा गया है जिसकी स्वीकृति शीघ्र कराए जाने का अनुरोध भी किया गया। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि जिले की महत्वपूर्ण सड़क मंच-तामली, चंपावत- खेतीखान व गोड़ी-किमतोली सड़क के सुधारीकरण हेतु भारत सरकार को प्रस्ताव भेजे गए हैं जिनकी स्वीकृति अपेक्षित है। उन्होंने बताया की टनकपुर में सिडकुल निर्माण हेतु भूमि चिन्हित कर प्रस्ताव शासन को भेजा गया है।
समीक्षा के दौरान माननीय कैबिनेट श्रीमती रेखा आर्या,चंदन राम दास,सांसद अल्मोड़ा अजय टमटा सहित अल्मोड़ा,बागेश्वर,पिथौरागढ़ जिले के विभिन्न माननीय विधायकगण तथा अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आरके सुधांशु,आयुक्त कुमाऊं मंडल दीपक रावत समेत शासन के विभिन्न उच्चाधिकारी, जनपद चंपावत से वीसी के माध्यम से पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव प्रभागीय वनाधिकारी आरसी कांडपाल, अपर जिलाधिकारी हेमंत कुमार वर्मा अधीक्षण अभियंता लोनिवि डीसी काण्डपाल व अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in Uncategorized

Trending News

Follow Facebook Page