Connect with us

उत्तराखण्ड

आयुष्मान योजनान्तर्गत पंजीकृत कोई भी अस्पताल गड़बड़ी न कर पाए,मण्डलायुक्त दीपक रावत,,

RS GILL journalist

रूद्रपुर – आयुष्मान योजनान्तर्गत पंजीकृत कोई भी अस्पताल गड़बड़ी न कर पाये। यह निर्देश मण्डलायुक्त दीपक रावत ने विकास भवन सभागार पहुॅचकर कुमाऊॅ मण्डल में चल रहे विकास कार्यों की विस्तार से समीक्षा करते हुए कही। उन्होंने निर्देश दिये कि इम्पेनल्ड अस्पतालों में अलग से काउण्टर की व्यवस्था की जाये और आयुष्मान में कवर्ड बीमारियों की सूची सार्वजनिक रूप से चस्पा की जाये। उन्होंने मनरेगा कार्यों की समीक्षा के दौरान निर्देशित करते हुए कहा कि कामगारों को काम मिले और मटेरियल वर्क से ज्यादा लेबर वर्क पर विशेष ध्यान दिया जाये।
आयुक्त ने मण्डल में सिकुड़ (कम हो) रहे बगीचों के क्षेत्रफल पर चिन्ता व्यक्त करते हुए निर्देश दिये कि उद्यानीकरण के क्षेत्र में विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किसानों को उद्यान लगाने हेतु प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये। उन्होंने नहरों की सफाई हेतु एसडीआरएफ में सिंचाई नहरों की सफाई हेतु प्रस्ताव तैयार कर, शासन में भेजने के निर्देश दिये। मण्डलायुक्त ने स्वरोजगार से सम्बन्धित योजनाओं की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि स्वरोजगार अपनाने के इच्छुक युवाओं को सरलता से ऋण उपलब्ध कराया जाये और प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के साथ ही विभिन्न योजनाओं में सब्सिडी की धनराशि समय से उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उन्होंने ऋण सम्बन्धित आवेदन पत्रों पर बैंको द्वारा स्वीकृति के स्थान पर भुगतान को ही अचीवमेंट (उपलब्धि) मानने के निर्देश दिये। उन्होंने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनान्तर्गत बैंकों को एक्सेस उपलब्ध कराने हेतु मण्डलायुक्त कार्यालय से शासन में पत्राचार कराने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये।
उन्होंने जल जीवन मिशन योजनान्तर्गत चल रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि समय-समय पर कार्यों की गुणवत्ता चैक की जाये और कार्यों को समयबद्धता से पूरा किया जाये। उन्होंने पीएम आवास योजना की समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि आवास की मांग करने वाले जरूरतमन्दों की सूची तैयार रखी जाये ताकि आगामी सर्वे में सूची के आधार पर सभी जरूरतमन्दों को प्राथमिकता के आधार पर शामिल किया जा सके। उन्होंने नगरीय क्षेत्रों में महिलाओं के लिए टाॅयलेट सुविधा पर विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिये। इसके साथ ही मण्डलायुक्त ने जल संरक्षण एवं संर्वधन, सड़क निर्माण, आजीविका मिशन, मत्स्य, उद्योग, कृषि, स्वच्छ भारत मिशन, उज्ज्वला सहित विभिन्न विभागों द्वारा संचालित योजनाओं की विस्तार से समीक्षा करते हुए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश सभी जनपदों के मुख्य विकास अधिकारियों को दिये।
बैठक में जिलाधिकारी उदयराज सिंह, मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, सीडीओ नैनीताल डाॅ.संदीप तिवारी, सीडीओ पिथौरागढ़ वरूण चैधरी, सीडीओ बागेश्वर आरसी तिवारी, सीडीओ चम्पावत आरएस रावत, आईएएस ट्रेनी अनामिका सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Continue Reading
You may also like...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Follow Facebook Page